Media4Citizen Logo
खबर आज भी, कल भी - आपका अपना न्यूज़ पोर्टल
www.media4citizen.com

घर में कब्रिस्तान : पति को मौत के घाट उतार दिया

आपसी झगड़े के बाद पत्नी ने अपने पति की हत्या करके शव को घर में ही गड्ढा खोदकर दबा दिया और उस पर बड़ा बक्सा रख दिया. जब लाश सड़ी और उसकी दुर्गंध फैली तो पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने कमरे में दफनाई गई लाश निकलवाई और पोस्टमार्टम के लिए भेजी. पुलिस ने आरोपी महिला को हिरासत में ले लिया है.

पति को मौत के घाट उतार दिया पति को मौत के घाट उतार दिया

शाहजहांपुर जिले के गढ़ियारंगीन थाना क्षेत्र के खमरिया गांव में आपसी झगड़े के बाद पत्नी ने अपने पति की हत्या करके शव को घर में ही गड्ढा खोदकर दबा दिया. पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है. हालांकि, आरोपी महिला ने पुलिस पूछताछ में दावा किया है कि उसके पति ने आत्महत्या कर ली थी और उसने डर के चलते शव को गड्ढा खोदकर दबा दिया.

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजीव बाजपेई ने गुरुवार को दर्ज कराई गई रिपोर्ट के हवाले से जानकारी दी कि थाना गढ़िया रंगीन अंतर्गत खमरिया गांव में रहने वाले गोविंद (30) का अपनी पत्नी शिल्पी से सात अगस्त को झगड़ा हो गया था, जिसके बाद पत्नी ने पर गोविंद की हत्या कर दी और उसके शव को घर में ही गड्ढा खोदकर दबा दिया. जब घर से बदबू आई तो मोहल्ले वालों ने मृतक की मां को सूचना दी जो नासिक में अपने बेटे के साथ रहती हैं. उन्होंने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में शिल्पी ने पुलिस को बताया है कि गोविंद शराब पीता था और आए दिन दोनों में झगड़ा होता रहता था.

वहीं तिलहर के सीओ मस्सा सिंह ने बताया कि सूचना आई थी कि गोविंद के घर से बदबू आ रही है. पुलिस वहां गई. एक जगह खुदा हुआ था. तब गोविंद की पत्नी शिल्पी से पुलिस ने पूछताछ की. शिल्पी ने पुलिस को बताया कि गोविंद से उसका झगड़ा हुआ था. इसके बाद गोविंद ने फांसी लगा ली. इसके बाद उसने शव को कमरे में दफना दिया. शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, रिपोर्ट के अनुसार ही कार्रवाई की जाएगी.

खमरिया गांव का गोविंद सिंह शराबी था. उसकी शादी खमरिया से तीन किमी दूर उमरसड़ निवासी शिल्पी के साथ हुई थी. सूत्र बताते हैं कि गोविंद शराब पीकर पत्नी के साथ मारपीट करता था. रविवार को भी शराब को लेकर झगड़ा हुआ था. उसी विवाद में शिल्पी ने उसे मौत के घाट उतार दिया. गोविंद की मौत के बाद उसने दूसरे कमरे में ले जाकर तीन फुट तक गड्ढा खोदकर पति के शव को दफना दिया. उसके ऊपर बड़ा संदूक और कुर्सियां रख दीं जिससे किसी को शक न हो. दोनों ही कमरों में ताले लगा दिए. पति की मौत के बाद भी शिल्पी अगले दिन सामान्य नजर आई. वह पहले की तरह हंस-बोल रही थी. रविवार शाम से गोविंद घर से लापता था. सोमवार को चचेरा भाई संजीव अपने भाई के घर पहुंचा. उसने भाभी शिल्पी से गोविंद के बारे में पूछा. शिल्पी ने गोविंद के मुंबई जाने की बात बता दी. उसका फोन भी बंद जा रहा था. शक होने पर संजीव ने गोविंद के सगे भाई गुरविंदर को फोन पर जानकारी दी. बृहस्पतिवार को गुरविंदर व संजीव घर पहुंचे तो कमरे में लगे ताले की चाबी मांगी. शिल्पी ने चाबी देने से इन्कार कर दिया. कमरे से दुर्गंध भी आ रही थी. इसके बाद गुरविंदर का शक बढ़ गया. उसने पुलिस को सूचना दी.

घटना के पीछे शराब पीकर आपस में झगड़े की वजह बताई जा रही है. वहीं आरोपी पत्नी का कहना है कि पति फंदे पर झूल गया था, डर की वजह से उसे कमरे में दफन कर दिया. मामले में मृतक के भाई की ओर से तहरीर दी गई है.


Published: 12-08-2022

लेटेस्ट


संबंधित ख़बरें