Media4Citizen Logo
खबर आज भी, कल भी - आपका अपना न्यूज़ पोर्टल
www.media4citizen.com

तहसील दिवस पर : जनता के मामलों पर हुई सुनवाई

ऋषिकेश व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में लम्पी वायरस बड़ी तेजी से फैल रहा है. ऋषिकेश व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में मवेशी इसकी चपेट में आ रहे हैं और संक्रमित हो रहे हैं. पशु चिकित्सक द्वारा ग्रामीण इलाकों में कैंप लगाकर पशुओं का इलाज किया जा रहा है.

जनता के मामलों पर हुई सुनवाई जनता के मामलों पर हुई सुनवाई
Author - राव शहजाद
राव शहजाद

ऋषिकेश , 20-09-2022


ऋषिकेश व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में लम्पी वायरस बड़ी तेजी से फैल रहा है. ऋषिकेश व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में मवेशी इसकी चपेट में आ रहे हैं और संक्रमित हो रहे हैं. पशु चिकित्सक द्वारा ग्रामीण इलाकों में कैंप लगाकर पशुओं का इलाज किया जा रहा है. यह वायरस इतनी तेजी से मवेशियों को संक्रमित कर रहा है. कई लोगों ने अपने मवेशी सड़कों पर खुला छोड़ दिए हैं जिससे संक्रमण तेजी से फैलने की संभावना बनी हुई है.

मवेशियों में संक्रमण फैलने से रोकने के लिए उप जिलाधिकारी ऋषिकेश शैलेंद्र सिंह नेगी की अध्यक्षता में तहसील ऋषिकेश में सभी विभागों के साथ एक बैठक का आयोजन किया गया. ऋषिकेश नगर निगम प्रशासन, तहसील प्रशासन, पशु चिकित्सा विभाग सभी हरकत में आ गए हैं. आज लम्पी बीमारी की रोकथाम एवं नियंत्रण के संबंध में एक आवश्यक बैठक का आयोजन तहसील ऋषिकेश में किया गया जिसमें नगर निगम, वन विभाग, पशुपालन विभाग ग्रामीण विकास विभाग, बाल विकास, स्वास्थ्य विभाग, जिला पंचायत आदि विभागीय अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया.

इस बैठक में गैर सरकारी संगठन, रोटरी एवं लायंस क्लब, तथा सामाजिक कार्यकर्ताओ ने भाग लिया. उप जिलाधिकारी ऋषिकेश शैलेंद्र सिंह नेगी ने सभी अधिकारियों को बताया कि संक्रमण तेजी से फैला है उसकी रोकथाम के लिए शहर में जगह जगह सफाई व्यवस्था दुरुस्त किया जाए, पानी जमा न होने दें, आवारा पशुओं को सड़क पर घूमने ना दें, जो भी संक्रमित मवेशी घूमता हुआ पाया जाता है उसको एक स्थान पर रखकर उसका समुचित इलाज किया जाए, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जाए. उप जिलाधिकारी द्वारा लोगों से अपील की गई है कि अपने मवेशियों को खुले में ना छोड़े, जिससे वह संक्रमित पशुओं की चपेट में आकर बीमार हो सकते हैं. पशु चिकित्सक द्वारा बताया गया कि दूध को उबालकर पिएँ, कच्चा दूध ना पिए, संक्रमित पशुओं से अपने पशुओं को दूर रखें. घबराने की कोई बात नहीं है. सुरक्षा का ध्यान रखते हुए आप अपने मवेशियों को इस संक्रमण से बचा सकते हैं.


Published: 20-09-2022

लेटेस्ट


संबंधित ख़बरें