Media4Citizen Logo
खबर आज भी, कल भी - आपका अपना न्यूज़ पोर्टल
www.media4citizen.com

उत्तराखंड में स्वास्थ्य व्यवस्था : यू के डी ने उठाये सवाल

जब स्वास्थ्य निदेशक का इलाज राजकीय चिकित्सालय में नहीं हो पा रहा है तो जनता को दोयम दर्जे का इलाज मुहैया हो रहा है या राजकीय चिकित्सालय राजकीय घोटालों के अड्डे बनकर रह गए हैं.

यू के डी ने उठाये सवाल यू के डी ने उठाये सवाल
Author
श्रीराम मौर्य

देहरादून , 17-09-2022


उत्तराखंड क्रांति दल के वरिष्ठ नेत्री केंद्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती प्रमिला रावत (एडवोकेट) ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण घटना है कि स्वास्थ्य निदेशक को अपने पैर का प्लास्टर करवाने के लिए प्राइवेट अस्पताल मैक्स में जाना पड़ा. इससे यह स्पष्ट हो गया है कि राजकीय चिकित्सालय की हालत इतनी खराब हो गई है कि वह अपने निदेशक की टांग का उपचार नहीं कर पाएं. प्लास्टर जैसे इलाज के लिए भी उन्हें प्राइवेट अस्पताल का सहारा लेना पड़ रहा है.

इस घटना की  उत्तराखंड क्रांति दल घोर निंदा करता है और इस कृत्य के लिए उत्तराखंड क्रांति दल सरकार के साथ-साथ चिकित्सा निदेशालय को भी दोषी मानता है. जल्द ही उत्तराखंड की महिला शक्ति और तमाम लोगों को मिलाकर स्वास्थ्य निदेशालय में तालाबंदी की जाएगी जिसके लिए बैठक कर जल्द समय निर्धारित किया जा रहा है. इस घटना से यह स्पष्ट हो गया है कि जब स्वास्थ्य निदेशक का इलाज राजकीय चिकित्सालय में नहीं हो पा रहा है तो जनता को दोयम दर्जे का इलाज मुहैया हो रहा है या राजकीय चिकित्सालय राजकीय घोटालों के अड्डे बनकर रह गए हैं. प्रदेश में चिकित्सा की हालत किसी से छुपी नहीं है जच्चा और बच्चा की दोनों की मौत हो रही है जिसके लिए स्वास्थ्य निदेशक को सीधा सीधा अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए. यदि उनका इस्तीफा नहीं आया तो उनको कार्यालय में बैठने नहीं दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रदेश स्तर पर भर्ती घोटाले के लिए पर्चे पोस्टर जारी किए जाएंगे.


Published: 17-09-2022

लेटेस्ट


संबंधित ख़बरें