Media4Citizen Logo
खबर आज भी, कल भी - आपका अपना न्यूज़ पोर्टल
www.media4citizen.com

शाहजहांपुर में जेल क्रिकेट प्रीमियर लीग : नियम कायदे बदले तो अंग्रेजों के ज़माने की जेल बदल गई

एक छोटे से मैदान पर क्रिकेट खेलते हुए युवाओं को देखकर आप सोच रहेंगे कि यह शहर का कोई आम मैदान है जहां खिलाड़ी क्रिकेट खेल रहे हैं. लेकिन यह सच नहीं है. दरअसल यह मैदान जिला जेल का है, जहां 5 सितंबर से जेल प्रीमियर लीग का आयोजन किया जा रहा है. फाइनल मैच 13 सितंबर को सेमीफाइनल विजेता टीमों के बीच खेला जायेगा .

नियम कायदे बदले तो अंग्रेजों के ज़माने की जेल बदल गई नियम कायदे बदले तो अंग्रेजों के ज़माने की जेल बदल गई
Author
विकास पी उत्तंक

शाहजहांपुर , 12-09-2022


उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में इन दिनों जेल क्रिकेट प्रीमियर लीग का आयोजन किया जा रहा है. इसमें कैदियों की पांच टीम बनाई गई हैं. अंपायर की भूमिका में अपने सख्त अनुशासन के लिए पहचाने जाने वाले जेलर हैं.

अब तक आपने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मैच देखे होंगे. जेल क्रिकेट प्रीमियर लीग के बारे में कोविड के बाद से ही सुना होगा. लेकिन अब क्रिकेट का एक नया प्रयोग शाहजहांपुर में देखने को मिल रहा है. जेल के बंदियों में स्वस्थ मनोरंजन के उद्देश्य से जेल क्रिकेट प्रीमियर लीग 5 सितंबर से चल रही है. जिसका फाइनल मैच 13 सितंबर को सेमीफाइनल की विजेता टीमों के बीच खेला जायेगा. जेल में बंदियों की कुल 5 टीमें बनाई गई हैं. इस क्रिकेट प्रतियोगिता में जेल अधिकारी अंपायर हैं तो वहीं कैदी क्रिकेट खिलाड़ी हैं. चौका-छक्का या आउट होने पर कैदी और अधिकारी एक साथ शूटिंग के साथ ताली बजाते दिखाई दे रहे हैं.

इस क्रिकेट टूर्नामेंट में जेल की 5 टीमें अपने भाग्य को अजमा रही हैं. वहीं खिलाड़ी जीत के लिए अपना पसीना बहा रहे हैं. आप देखकर इस बात का अंदाज लगा सकते है कि हर गेंद पर बनने वाला रन बंदियों के लिए कितना खास है साथ ही उनके समर्थक भी अपनी टीम के खिलाड़ियों के लिए हौसला अफजाई करने में जरा भी कमी नहीं कर रहे हैं.

दरअसल कैदियों में भाई चारा, सूझ-बूझ, सहनशक्ति, प्रेमभाव बढ़ाने तथा तनाव व अवसाद से मुक्त रखने तथा स्वस्थ मनोरंजन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जेल क्रिकेट प्रीमियर लीग आयोजित की जा रही है. कमेंट्री की जिम्मेदारी बंदी सोनू राकेश निभा रहे हैं. स्कोरिंग का काम बंदी शिवम् तथा अम्पायर जेल वार्डर राजेश कुमार व बंदी अरविन्द दुबे कर रहे हैं.

रविवार का लीग मैच सेंट्रल सुपर किंग्स व इन्द्र क्रिकेट क्लब के बीच खेल गया. 12 -12 ओवर के मैच में सेंट्रल सुपर किंग्स ने 8ओवर के नुकसान पर 73 रन तथा इन्द्र क्रिकेट क्लब ने आल आउट पर 45 रन बनाए. इससे पहले जेल अधीक्षक मिजाजीलाल ने दोनों टीमों का परिचय प्राप्त कर हाथ मिला कर हौसलाअफजाई की और जीत की शुभकामनाएं दीं. सेंट्रल सुपर किंग्स के कप्तान सुड्डू व गिर्दा रायल किंग्स के कप्तान प्रभात द्वारा अपनी-अपनी टीमें मैदान पर उतारी. सेंट्रल सुपर किंग्स के कप्तान सुड्डू ने टास जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया. सेंट्रल सुपर किंग्स ने 72 रन बनाये, उसके जबाव में गिर्दा रायल किंग्स 60 रन बनाकर आल आउट रही. इस तरह सेंट्रल सुपर किंग्स टीम 12 रन से विजयी रही.बेस्ट बैट्समैन आमिर रहे जिन्होंने 30 रन बनाये. मैन ऑफ द मैच भी आमिर को घोषित किया गया. बेस्ट वालर कपिल ने 3 ओवर में 9 रन देकर 2 विकेट लिए.

आपको बता दें कि जेल में बंदियों की कुल 5 टीमें बनाई गई हैं- फास्ट रायल चैलेंजर्स, सेंट्रल सुपर किंग्स, इन्द्र क्रिकेट क्लब, 9+10 इन्डियन्स, गिर्दा रायल किंग्स. जेल के कैदियों से तैयार पांच टीमों के बीच मैच खेले जाएंगे. 13 सितंबर को जेल के भीतर ही फाइनल मैच होगा. खास बात यह भी है कि जब से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जेल के नियम कायदों को बदला गया है तब से कैदियों और बंदियों में खासा उत्साह है.

जिला प्रशासन और अधिकारियों के बीच माना जा रहा है कि इससे जेल में बंद कैदियों के बीच बढ़ने वाला मानसिक तनाव जरूर कम होगा. दरअसल, उत्तर प्रदेश में योगी सरकार द्वारा अंग्रेजों के जमाने से चले आ रहे जेल मैन्युअल में बदलाव किया गया है. इससे शाहजहांपुर जिला जेल में कैदियों को अब अंग्रेजों के जमाने से चले आ रहे जेल मैन्युअल से काफी हद तक निजात भी मिल गई है. इस प्रतियोगिता से कैदियों के बीच टीम भावना और बेहतर करने का जज्बा पैदा होगा. शाहजहांपुर के जेल अधीक्षक मिजाजी लाल के मुताबिक जेल सुधारों के आपराधिक दुनिया को छोड़ कैदियों के जीवन स्तर में बेहतर बदलाव आए तथा वह समाज की मुख्यधारा में आयें, इसलिए यह पहल की गई है. फाइनल मैच 13 सितंबर को खेला के जायेगा तथा विजेता खिलाड़ियों को पुरस्कार प्रदान किए जायेंगे.


Published: 12-09-2022

लेटेस्ट


संबंधित ख़बरें